आम चर्चा

राम को सिर्फ मानने वाले नही राम की मानने वाले बने,उनके आचरण को जीवन में उतारे :- विदुषी अंजली आर्या

आशु चंद्रवंशी,बड़ेगौटिया/कवर्धा।आर्य समाज कवर्धा की ओर से आयोजित 03 दिवसीय संगीतमय श्री राम कथा कार्यक्रम का शुक्रवार को प्रारंभ हो गया है।कार्यक्रम के शुरुवात में दीप प्रवजलित कर महान युग प्रवर्तक समाज सुधारक महर्षि दयानंद सरस्वती जी की 200 जयंती पर उनको नमन करते हुए श्री राम कथा का शुभारंभ किया गया।श्री राम कथा की वाचिक विदुषी अंजली आर्या ने प्रथम बार कवर्धा  में प्रवचन देने पर कवर्धा वासियों को इस सुंदर कार्यक्रम के लिए बधाई दिया।जिसके बाद उन्होंने ने वाल्मीकि रामायण पर आधारित श्री राम कथा सुनाया जिसमे उन्होंने मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम भगवान जीवन और उनके आदर्शो की ओर चित्रण करते बताया कि महर्षि वाल्मीकि ने भगवान राम के गुणों और उनके व्यक्ति को देखकर वाल्मीकि रामायण लिखा।उन्होंने बताया कि त्रेतायुग में आर्यावर्त में कौशल में आनी वाली अयोध्या बहुत ज्यादा संपन्न था।राजा दशरथ के राज्य में एक व्यक्ति निर्धन नही था,न ही कोई चोर थे।इतने संपन्न राज्य में भगवान श्री राम और उनके चार भाईयो का जन्म हुआ।विदुषी अंजली आर्या ने श्री राम कथा का वाचन करते बताया कि श्री राम और उनके भाइयों के जन्म सिर्फ एक खीर खाने से नहीं हुआ बल्कि आयुर्वेद के पुरोहिता श्रृंगी ऋषि के तप और उनके द्वारा पुत्रेष्ठि यज्ञ कराया गया।जिसमे आयुर्वेद के विभिन्न जड़ी बूटियों के मिश्रण से निर्मित खीर खाने और यज्ञ से निकले औषधीय वायु से होना बताया।उन्होंने आयुर्वेद को लेकर बताया कि भारत देश ही आयुर्वेद को जन्म देने वाला है।इसके साथ उन्होंने कहा कि श्री राम जी एक सर्वश्रेष्ठ राजा थे।उनके अंदर सत्य,सदाचार,करुणा,दया और धर्म का पालन करना सिखाया।जिनके आदर्शो को आज के समय में पालन करना जरूरी है।उन्होंने ने कहा कि भगवान श्री को सिर्फ मानना नही है। बल्कि उनके द्वारा आदर्शो को मानना है।उनके आचरण को अपने दिनचर्या में पालन करने से एक सफल श्री राम की तरह व्यक्ति सफल हो सकता है।उन्होंने ने महर्षि दयानंद सरस्वती जी के द्वारा वैदिक सनातन संस्कृति के बचाव के लिए किए गए कार्यों को भी बताया।उन्होंने मुख्य रूप से अच्छे संतान निर्माण को लेकर विस्तृत रूप से बताया।कार्यक्रम के आयोजक में आर्य समाज कवर्धा प्रधान राजकुमार वर्मा, महेंद्र ठाकुर, शिव कुमार चंद्रवंशी, हजारी राम, हरिराम साहू, वेदराम साहू, मनोहर साहू, रोहित जायसवाल, परमेश्वर , भगत पटेल , नंद श्रीवास, हीरा आर्य, रवि राजपूत,खोमेश राजपूत, वान प्रस्थि राम मुनि,विशेष रूप से सहयोग दे रहे है।वही कार्यक्रम में श्री राम कथा सुनने के लिए कैलाश चंद्रवंशी,चंद्र प्रकाश चंद्रवंशी,शत्रुहन वर्मा, नपा अध्यक्ष मनहरन कौशिक सहित बड़ी संख्या में श्रद्धालुओ ने श्री राम कथा का आनंद लिया।

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Back to top button